सुप्रभात

44 Posts

46 comments

Ashish Shukla


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

Page 5 of 5«12345

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

आशीष जी काफी प्रभावशाली लेख के लिए साधुवाद ! कन्हैया जैसे निष्क्रिय पथ भ्रष्ट जिनको सरकारी खर्चे पर मुफ्त का खाना, रहन सहन, पढ़ाई मिल गयी, खाली दिमाग शैतान का घर, मदद देने वाले, इंद्रा गांधी जी का पोता अर्धविकसित, नीतिसकुमार ! वो नीतीश कुमार जिसने कुछ दिन पहले आतंकवाद से लड़ते हुए एक नव जवान कैप्टेन के शव को तिरंगे में लिपटे एयर पोर्ट पर सैना के वायुवान से प्राप्त किया था, जिसने मातृ भूमि के लिए अपनी जवानी देदी, आज 'भारत को बरबाद करने, टुकड़े टुकड़े करने वाले, पाकिस्तान जिन्दावाद कहने वाले नारे लगाने के लिए कन्हैया की पीठ ठोक रहा है ! केवल मोदी जी से बैर भाव दिखाने के लिए ! नीतीश, लालू, केजरीवाल, राहुल-सोनिया, शत्रुघ्न सिन्हा, एसपी, बीएसपी, साम्यवाद, ममता,अपना जीवन मोदी से भयभीत होकर ऐसे गुजार देंगे, मोदी जी का बाल भी बांका नहीं कर पाएंगे ! क्योंकि ये सब सरकारी खाजेन पर हाथ साफ़ करते हैं, मोदी जी अपना वेतन भत्ता गरीबों को दान कर देते हैं, उन्हें वो भी बड़ी मानसिक शक्ति मिलती है ! मोदी जी सबसे दोस्ती का हाथ बढ़ा रहे हैं ! मोदी जी लगे रहो हम आपके साथ है ! हरेन्द्र जागते रहो !

के द्वारा: harirawat harirawat

जय श्री राम आशीष जी लार्ड मैकाले ने गर्व से कहा था की हमने जो शिक्षा पद्धति लगी उसके बाद भारतीय अपनी संस्कृति,धर्म,अपनी उपलब्धियो को भूल कर नफरत करने लगेगे और हमारे जाने के सैकड़ो सालो तक हमारे गुण गायेंगे.यही हो रहा नेहरूजी ने शिक्षा इतिहास वाम लोगो के हाथ छोड़ दिया जिसका फल हम भुगत रहे जो हिन्दू और देश विरोध में और आगे अंग्रेजो से भी ज्यादा हो गए.कुर्सी के लालच में कांग्रेस,नितीश,लालू,केजरीवाल ममता देश को भी बेच दे और हमारे इंग्लिश मीडिया और कुछ टीवी चैनेलो को मोदी विरोध की वजह से देश की भी चिंता नहीं जिन्होंने कन्हैया ऐसे राष्ट द्रोही को भी हीरो बना दिया अमेरिका ब्रिटेन जो हम पर उंगली उठा रहे वहां पर ये संभव नहीं जो जनु में हो रहा.मोदीजी के बॉस अब अदालतों पर हमला होगा देश को अस्थिर करने में विदेशी साजिस में देशी लोग शामिल हो गए इसीलिये कश्मीर में आतंकवादियो के ज़नाज़े में इतनी भीड़ उमरती जैसे कोइ राज नेता मारा हो देश की हालत बहुत ख़राब है आपके सुन्दर लेख के लिए बधाई यहाँ पर भी लोग प्रतिक्रिया देने में भी परहेज़ करते क्या ये स्वार्थता नहीं?

के द्वारा: rameshagarwal rameshagarwal

के द्वारा: Ashish Shukla Ashish Shukla

के द्वारा: Ashish Shukla Ashish Shukla




latest from jagran